Loan against property in India-Mortgage Loan in Hindi

Mortgage Loan–क्या आप लोन लेना चाहते है। क्या आप को unsecured लोन नहीं मिल रहा है। यदि आपके पास प्रॉपर्टी है और इस प्रॉपर्टी को गिरवी रख कर लोन लेना चाहते है तो आप को लोन मिल जाएगा। जिसे लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी कहते है। 

Loan against property- Mortgage

Table of Contents

Mortgage Loan meaning in Hindi

बैकं आपसे जानना चाहेगा की आप लोन किस लिए लेना चाहते है।  लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी , आप बिज़नेस बढ़ाने के लिए,, घर बनाने के लिए , बेटी की शादी के लिए और दूसरे कामो के लिए ले सकते है। 

यदि आपके पास प्रॉपर्टी है और प्रॉपर्टी के अगेस्न्ट लोन, प्रॉपर्टी(Mortgage Loan) को गिरवी रखकर लेना चाहते है तो, उसे लोन अगेस्न्ट प्रॉपर्टी कहते है। 

सीमित सैलरी और महंगाई वाले दौर में आपको कभी भी पैसों की अचानक जरूरत पड़ सकती है। वहीं दूसरी तरफ पर्सनल लोन की भी एक सीमा होती है कि आप एक खास रकम से ज्‍यादा का कर्ज नहीं ले सकते। हो सकता है आपकी जरूरत इतनी बड़ी हो कि आप अपनी प्रॉपर्टी ही बेचने की योजना बना रहे हों। हालांकि, बड़ी रकम का कर्ज लेने के लिए आप लोन अगेंस्‍ट प्रॉपर्टी (LAP) पर विचार कर सकते हैं। जिस प्रॉपर्टी को बेचकर आप अपनी जरूरत पूरी करना चाह रहे थे, उसी को मॉर्गेज/गिरवी रखने से आपका काम हो जाएगा। लोन अगेंस्‍ट प्रॉपर्टी(Mortgage Loan) के लिए आप रेजीडेंशियल या कमर्शियल प्रॉपर्टी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। आइए, विस्‍तार से इसके बारे में जानते हैं।

लोन अमाउंट(Mortgage Loan) कितना मिलेगा :-

प्रॉपर्टी की कीमत के आधार पर लोन अमाउंट तैयार होता है। अधिकतर बैंक या अन्य लोन देने वाली कंपनी प्रॉपर्टी की मार्केट वैल्यू के आधार पर 50-75 फीसद के बीच लोन अमाउंट देती हैं। लोन अमाउंट इस बात पर निर्भर करता है कि प्रॉपर्टी किस जगह पर है उसकी हालत कैसी है। इस सब के बाद आवेदक का क्रेडिट स्कोर, आय का स्रोत आदि देखा जाता है।

अब बैंक यह देखता है की आपकी इनकम क्या है। क्या आप सैलरीड आदमी है या बिज़नेस मैन है। यदि आप नौकरी करते है तो आपके सालाना इनकम का चार गुना होम लोन मिल सकता है अगर कोई EMI  नहीं चल रहा है तो , यदि कोई एमी चल रहा है बैंक आपकी EMI को छोड़कर जो आपकी एलिजिबिलिटी बनेगी बैंक आपको वो लोन अमाउंट देगा। 

यदि आप बिज़नेस मैंन है तो आपकी सालाना इनकम का ७ गुना होम लोन मिल जाएगा अगर कोई EMI नहीं चल रहा है तो , यदि कोई एमी चल रहा है बैंक आपकी EMI को छोड़कर जो आपकी एलिजिबिलिटी बनेगी बैंक आपको वो लोन अमाउंट देगा।   देश में सभी बैंक लोन अगेस्न्ट प्रॉपर्टी  देते है , सभी बैंको के (Mortgage Loan)लोन देने की प्रक्रिया अलग अलग होती है। सभी बैंक के ब्याज दर अलग अलग होते है सभी बैंक के नियम और शर्ते अलग अलग होते है। अगर हम उन्हें फॉलो करते है तो हमें लोन आसानी से मिल जाता है। लोन(Mortgage Loan) लेने से पहले हमें बैंक नियम और शर्ते जानना जरुरी होता है होम लोन लेने से पहले हमें बैंक द्वारा दिए जाने वाली ब्याज , प्रोसेसिंग फीस , इन्सुरेंस और अतिरिक्त जो डिडक्शन हो जान लेना चाहिए।

लोन एप्लीकेशन फॉर्म :-

लोन अगेस्न्ट प्रॉपर्टीलेने के लिए जरूरी दस्तावेज:- Mortgage Loan ke liye document

केवाईसी (अपने ग्राहक को जानें) know your customer

सैलरी प्रोफाइल के लिए(Mortgage Loan) :-

आईडी प्रूफ/जन्म प्रमाण पत्र
पासपोर्ट, पैन कार्ड, आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, सरकारी निकाय द्वारा जारी पहचान पत्र
रेजिडेंस एड्रेस प्रूफपासपोर्ट, आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, सरकारी निकाय द्वारा जारी पहचान पत्र, बिजली बिल, पानी बिल, हाउस टैक्स रिसीप्ट
इनकम प्रूफ1. नवीनतम 3 वेतन पर्ची
2.     फॉर्म 16 /फॉर्म 26 AS आईटीआर
3.     पिछले 3 महीने का बैंक स्टेटमेंट उन सभी आवेदकों के वेतन क्रेडिट को दर्शाता है जिनकी वेतन आय पर विचार किया जा रहा है।
4.     पिछले 3 महीनों के लिए कोई अन्य बैंक स्टेटमेंट जहां से आपकी EMI जा रही हो। 
नोट: – वेतन केवल सीधे बैंक क्रेडिट के माध्यम से ही
हस्ताक्षर प्रमाण पत्र1.     पासपोर्ट
२.     पैन कार्ड
3.     बैंक द्वारा सत्यापित हस्ताक्षर प्रमाण

बिज़नेस प्रोफाइल के लिए KYC और इनकम प्रूफ(Mortgage Loan) :-

आवश्यक दस्तावेज: –
पहचान प्रमाणपहचान पत्रपैन कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस / पासपोर्ट / मतदाता/ आधार कार्ड
पता प्रमाणपासपोर्ट / ड्राइविंग लाइसेंस / मतदाता पहचान पत्र / आधार कार्ड / उपयोगिता बिल / बैंक विवरण / बैंक खाता पासबुक (अपडेट किया गया और 2 महीने से अधिक पुराना नहीं) )
स्वामित्व प्रमाणअनुबंध प्रति / बिजली बिल / शेयर प्रमाण पत्र के साथ रखरखाव बिल / नगर कर बिल / शेयर प्रमाण पत्र
व्यापार निरंतरता प्रमाण / कार्यालय पता प्रमाण / कंपनी केवाईसीदुकान स्थापना प्रमाण पत्र / कर पंजीकरण-वैट / सेवा कर / जीएसटी पंजीकरण/कंपनी पैन कार्ड 
फर्म संविधान (फर्म कॉन्स्टिटूशन )एमओए , एओए,  पार्टनर शिप डीड, जीएसटी पंजीकरण प्रमाणपत्र, कंपनी पैन कार्ड 
वित्तीय(फाइनेंसियल )1. नवीनतम दो साल का वित्तीय (बैलेंस शीट, प्रॉफिट एंड लॉस , अचल संपत्ति, डेप्रिसिएशन,, सभी अनुसूची 2. नवीनतम टैक्स ऑडिट रिपोर्ट।
बैंकिंगपिछले छह महीने का बैंक स्टेटमेंट (बिजनेस अकाउंट्स)
ऑफिस एड्रेस प्रूफ/ कंपनी केवाईसीदुकान और स्थापना प्रमाणपत्र/कर पंजीकरण-वैट/सेवा कर/जीएसटी पंजीकरण

(Mortgage Loan)प्रॉपर्टी पेपर्स की डिटेल्स :-

  • बिक्री के लिए रजिस्टर्ड एग्रीमेंट, बिक्री के लिए एलॉटमेंट लेटर या स्टांप्ड एग्रीमेंट
  • कब्जा प्रमाणपत्र
  • मेंटेनेंस बिल, इलेक्ट्रिसिटी बिल, प्रापर्टी टैक्स रिसिप्ट
  • एप्रूव्ड प्लान कॉपी (जेरॉक्स ब्लूप्रिंट) और बिल्डर का रजिस्टर्ड डेवलपमेंट एग्रीमेंट, Conveyance Deed (नई प्रॉपर्टी के लिए)
  • अकाउंट स्टेटमेंट
  • आवेदक के पास जितने भी बैंक खाते हैं, सभी का पिछले छह महीने का बैंक अकाउंट स्टेटमेंट्स
  • अगर किसी अन्य बैंक या लेंडर्स से पहले से कोई लोन लिया है तो पिछले एक साल का लोन स्टेटमेंट

लोन अवधि और ब्याज दर क्या होगी? Mortgate loan interest rate

ब्याज दर कंपनी की श्रेणी पर निर्भर करती है जिसमें कर्मचारी काम कर रहा है या जिस कंपनी का मालिक है और प्रॉपर्टी के अनुसार । यह 8.50% से 14 % तक होता है। कार्यकाल 60 माह से 120 माह तक का होगा।

अगर कोई प्रॉपर्टी बैंक में लोन के लिये मॉर्गेज है और उससे मिलने वाला किराया क्या बैंक, प्रॉपर्टी के असली मालिक के अनुमती बिना जबरदस्ती ले सकती है?

बैंक बिना अनुमति के किराया नहीं ले सकता है।

क्या वसीयत को इक्विटेबल मॉर्गेज के रूप में रखा जा सकता है?

जी नहीं , वसीयत के रजिस्टर्ड मॉर्गेज की जरुरत होती है।

क्या अचल सम्पत्ति के मॉर्गेज पर अलग से guarantor की आवश्यकता है?

जी नहीं , अचल संपत्ति पर किसी भी प्रकार के गारंटर की आवश्यकता नहीं है।

क्या बिज़नेस के लिए प्रॉपर्टी के अगेस्न्ट लोन ले सकते है ?

जी हां , बिज़नेस के लिये प्रॉपर्टी के अगेंस्ट लोन ले सकते है।

कुछ महत्त्वपूर्ण ब्लॉग लिंक :-

बिज़नेस लोन इन हिंदी
होम लोन की जानकारी हिंदी में।
बिज़नेस लोन की जानकारी हिंदी में
कार लोन की जानकारी हिंदी में
लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी इन हिंदी

पेटीऍम से लोन कैसे ले

Leave a Comment

इलेक्ट्रिक कार पर लोन ऑफर। छोटे व्यापार के लिए कौन कौन से सरकारी लोन योजनाए है? पीपीएफ पर लोन लेने के क्या नियम है ? PM स्वनिधि रोजगार लोन योजना क्या है ? पर्सनल Vs क्रेडिट कार्ड। कौन बेहतर है ? बैंक का लोन नहीं चुकाया तो बैंक क्या कर सकता है? बैंक से लोन लेने पर गारंटर की क्या जिम्मेदारी होती है? ऐड-ऑन क्रेडिट कार्ड क्या होता है ? लोन लेने वाले व्यक्ति के मौत हो जाने पर बकाया भुगतान कौन करता है ? लोन गारंटर बनाने से पहले कुछ बाते जान लेना चाहिए। नहीं तो फस जायेगे आप।