बिजनेस लोन क्या है?-Business Loan Kaise Le ।।Small Business Loan

बिज़नेस लोन या small business loan व्यवसाय के विस्तार के लिए असुरक्षित ऋण(Unsecured Loan) है जैसे व्यवसाय विस्तार, कार्यशील पूंजी की जरूरतों को बनाए रखना, संयंत्र या मशीनरी खरीदना, स्टॉक और इन्वेंट्री बढ़ाना। ऋण लेने के लिए किसी संपत्ति को गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं है। बैंक या एनबीएफसी यह ऋण स्व-व्यवसायी गैर-पेशेवर और स्व-नियोजित पेशेवर (डॉक्टर/अधिवक्ता आदि) को प्रदान करते हैं। बैंक अपने वित्तीय और बैंकिंग व्यवहार के आधार पर यह बिज़नेस लोन हमारे देश में (Business Loan in India)प्रदान करता है। तत्काल व्यापार ऋण प्राप्त करने के लिए, एक स्वरोजगार अपने अच्छे व्यवसाय प्रवाह को बनाए रखता है और बैंक / एनबीएफसी के साथ अपने अच्छे लेनदेन व्यवहार को बनाए रखता है, वह फंड लेने के लिए पात्र होगा।

Small Business Loan
business-loan

Table of Contents

लोन एप्लीकेशन फॉर्म:-

बिज़नेस लोन के लिए पात्रता मानदंड क्या हैं? (बिजनेस लोन पात्रता मानदंड)(Small Business Loan)

1-    व्यापार और कार्यालय की स्थिरता:- न्यूनतम व्यापार विंटेज 3 वर्ष और एक ही स्थान पर कार्यालय स्थिरता 1 वर्ष होनी चाहिए।

2-     टर्नओवर:- यह न्यूनतम 50 लाख/वर्ष होना चाहिए। कारोबार पिछले वर्षों के साथ संपीड़न में बढ़ते रुझान में होना चाहिए। यदि कारोबार में गिरावट है तो यह 10% से अधिक नहीं होनी चाहिए

3-    रिपोर्ट किया गया लाभ- पिछले दो वर्षों के लिए शुद्ध लाभ लाभदायक होना चाहिए। इसे नुकसान की सूचना नहीं देनी चाहिए। यदि नकद लाभ की तुलना में हानि 5% से अधिक ना हो। 

नकद लाभ(कैश प्रॉफिट) = कर पश्चात लाभ (PAT )+ मूल्यह्रास(DEPRICIATION ) + भागीदार या निदेशक वेतन (डायरेक्टर सैलरी ) + भागीदार या निदेशक का ब्याज  

4-    आवेदक के पास उसी शहर में जहां उसका व्यवसाय चल रहा है, आवेदक के नाम पर स्व-स्वामित्व वाली संपत्ति निवास/दुकान/कार्यालय/गोदाम होनी चाहिए।

5-    लोन का एन्ड यूज स्पष्ट होना चाहिए। जिसके लिए वह कर्ज ले रहा है। इसे व्यापार विस्तार, कार्यशील पूंजी की जरूरतों को बनाए रखना, संयंत्र या मशीनरी खरीदना, स्टॉक और इन्वेंट्री बढ़ाना पसंद करना चाहिए।

बिज़नेस लोन(Small Business Loan) के लिए बैंकिंग पैरामीटर क्या हैं?

1-    बैंक स्टेटमेंट चालू खाता या OD/CC खाता होना चाहिए और इसके खुलने की तिथि 1 वर्ष पुरानी होनी चाहिए।

2-    मुख्य व्यवसायिक  खाता माना जाएगा। 

3-    बैंक स्टेटमेंट में न्यूनतम 36 बिजनेस क्रेडिट ट्रांजेक्शन 1 साल में होना चाहिए।

4-    प्रोफेशनल (सीए/डॉक्टर) के लिए बचत खाते पर विचार किया जाएगा। 

5-    औसत बैंक बैलेंस प्रस्तावित ऋण राशि की न्यूनतम ईएमआई के बराबर होना चाहिए। 

6-     पिछले 6 महीनों में कोई ईएमआई बाउंस नहीं।

7-    बैंक स्टेटमेंट में अधिकतम इनवर्ड 5% चेक रिटर्न की अनुमति है।

 वित्तीय दायित्व का क्या अर्थ है? Financial Obligation in Hindi

किसी भी प्रकार का ऋण, बैंक या किसी अन्य स्रोत से ली गई देयता को वित्तीय दायित्व कहा जाता है जैसे कि किसी भी प्रकार का ऋण, सीसी/ओडी खाता, क्रेडिट कार्ड आदि। यह किसी भी प्रकार के बकाया ऋण का प्रतिनिधित्व करता है।

ऋण आवेदन प्रक्रिया के दौरान, बैंक मासिक दायित्व की गणना करता है जिसे ग्राहक हर महीने बैंक को चुकाता है। बैंक क्रेडिट कार्ड की सीमा के कुल बकाया का 5% भी गिनता है।

मासिक दायित्व = कुल चालू ऋण (ईएमआई) + सीसी/ओडी ब्याज प्रति माह औसत + क्रेडिट कार्ड सीमा के कुल बकाया का 5%।

देनदार दिनों की गणना कैसे करें? Debtor days in Hindi

देनदार दिन;- अपने देनदार को माल बेचते समय आपको देनदार से अपना पैसा कितने औसत दिनों के बाद मिलता है।

एवरेज सेल प्रतिदिन  = कुल बिक्री प्रति वर्ष (टोटल टर्नओवर)/365 दिन

कुल देनदार दिन  = कुल देनदार राशि (डेब्टर अमाउंट )/ एवरेज सेल प्रतिदिन। 

लेनदार दिनों की गणना कैसे करें? Creditor Days in Hindi

लेनदार दिन:- लेनदार से माल खरीदते समय आप अपने लेनदार को कितने औसत दिनों के बाद पैसे का भुगतान करेंगे।

औसत खरीद प्रतिदिन  = कुल खरीद(टोटल परचेस ) / 365 दिन

कुल लेनदार दिन = कुल लेनदार राशि(टोटल क्रेडिटर अमाउंट ) / औसत खरीद(एवरेज परचेस )।

नोट:-अच्छा देनदार दिन और लेनदार दिन 90 दिन या अधिकतम 120 दिनों से अधिक नहीं होना चाहिए।

डेट-टू-इक्विटी अनुपात – डी/ई क्या है? Debt to Equity Ratio in hindi

डेट-टू-इक्विटी (डी/ई) अनुपात का उपयोग कंपनी के वित्तीय स्थिति  का मूल्यांकन करने के लिए किया जाता है और इसकी गणना कंपनी की कुल देनदारियों को उसके शेयरधारक इक्विटी से विभाजित करके की जाती है। डी/ई अनुपात कॉर्पोरेट वित्त में उपयोग किया जाने वाला एक महत्वपूर्ण आकलन  है।

ऋण के लिए इक्विटी (डी / ई) अनुपात फॉर्मूला और गणना:-

ऋण / इक्विटी = कुल देयताएं /कुल शेयरधारकों की इक्विटी

लोन अवधि और ब्याज दर क्या होगी? Business loan interest rate

ब्याज दर कंपनी की श्रेणी पर निर्भर करती है जिसमें कर्मचारी काम कर रहा है। यह 10.50% से 22% तक होता है। कार्यकाल 12 माह से 60 माह तक का होगा।

महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन का विकल्प।। Mahilaon ke liye business loan ।। Small Business Loan

महिंलाओं के लिए भी बिज़नेस लोन का विकल्प खुला हुआ है। यदि किसी का बिज़नेस ३ साल पुराना है तो उसे भी प्राइवेट बैंक से लोन आसानी से मिल जाएगा। यदि महला बिज़नेस लोन स्टार्ट करने के लिए लोन लेना चाहती है तो उसे सरकारी बैंक लोन देते है।

बिज़नेस लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज: – (Business loan documents list) ।। Small Business Loan

आवश्यक दस्तावेज: –
पहचान प्रमाणपहचान पत्रपैन कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस / पासपोर्ट / मतदाता/ आधार कार्ड
पता प्रमाणपासपोर्ट / ड्राइविंग लाइसेंस / मतदाता पहचान पत्र / आधार कार्ड / उपयोगिता बिल / बैंक विवरण / बैंक खाता पासबुक (अपडेट किया गया और 2 महीने से अधिक पुराना नहीं) )
स्वामित्व प्रमाणअनुबंध प्रति / बिजली बिल / शेयर प्रमाण पत्र के साथ रखरखाव बिल / नगर कर बिल / शेयर प्रमाण पत्र
व्यापार निरंतरता प्रमाण / कार्यालय पता प्रमाण / कंपनी केवाईसीदुकान स्थापना प्रमाण पत्र / कर पंजीकरण-वैट / सेवा कर / जीएसटी पंजीकरण/कंपनी पैन कार्ड 
फर्म संविधान (फर्म कॉन्स्टिटूशन )एमओए , एओए,  पार्टनर शिप डीड, जीएसटी पंजीकरण प्रमाणपत्र, कंपनी पैन कार्ड 
वित्तीय(फाइनेंसियल )1. नवीनतम दो साल का वित्तीय (बैलेंस शीट, प्रॉफिट एंड लॉस , अचल संपत्ति, डेप्रिसिएशन,, सभी अनुसूची 2. नवीनतम टैक्स ऑडिट रिपोर्ट।
बैंकिंगपिछले छह महीने का बैंक स्टेटमेंट (बिजनेस अकाउंट्स)
ऑफिस एड्रेस प्रूफ/ कंपनी केवाईसीदुकान और स्थापना प्रमाणपत्र/कर पंजीकरण-वैट/सेवा कर/जीएसटी पंजीकरण

बिजनेस के लिए लोन कैसे ले?(Small Business Loan)

यदि आप बिज़नेस स्टार्ट करना चाहते है और इसके लिए आपको बिज़नेस लोन चाहिए तो आप किसी सरकारी बैंक में बैंक मैनेजर से जाकर संपर्क कर सकते है। बैंक में सरकार की तरफ से अनेक स्टार्ट अप बिज़नेस के लिए फण्ड सरकार की तरफ से आता है जिसका लाभ आप ले सकते है।
यदि आपका बिज़नेस पुराना है और दो साल बिज़नेस करती हुए हो गया है। आपको कोई भी सरकारी बैंक, प्राइवेट बैंक और फाइनेंस कंपनी आपको लोन दे सकती है। आप उनके ब्रांच में जाकर संपर्क कर सकते है।

बिजनेस लोन प्राइवेट कंपनी कौन सी दे सकती है?

बिज़नेस लोन आपको प्राइवेट बैंक और प्राइवेट फाइनेंस कंपनी दे सकती है। प्राइवेट बैंक में आपको hdfc bank , आईसीआईसीआई बैंक , कोटक बैंक , एक्सिस बैंक और फाइनेंस कंपनी में बजाज फाइनेंस , टाटा कैपिटल , आदित्या बिरला कैपिटल इत्यादि कंपनी लोन दे रही है , जहा से आप लोन ले सकते है।

बिजनेस लोन(Small Business Loan) लेने के लिए कितने परसेंट ब्याज लगेगी?

बिज़नेस लोन एक अनसिक्योर्ड लोन होता है , इसलिए इसका ब्याज अन्य लोन की तुलना में ज्यादा होता है। यह 15 % reducing रेट से स्टार्ट होता है और 28% reducing तक जाता है।

बिज़नेस लोन का मैक्सिमम और मिनिमम लोन अमाउंट का टिकट साइज क्या होता है ?

बिज़नेस लोन का मिनिमम Rs 50000/- से लेकर Rs 50,00,000/- तक होता है। यह कंपनी के फाइनेंसियल कंडीशन के ऊपर निर्भर करता है की बैंक उसे लोन कितना देगा।

कुछ महत्त्वपूर्ण ब्लॉग लिंक :-

Business Loan in English

Leave a Comment

इलेक्ट्रिक कार पर लोन ऑफर। छोटे व्यापार के लिए कौन कौन से सरकारी लोन योजनाए है? पीपीएफ पर लोन लेने के क्या नियम है ? PM स्वनिधि रोजगार लोन योजना क्या है ? पर्सनल Vs क्रेडिट कार्ड। कौन बेहतर है ? बैंक का लोन नहीं चुकाया तो बैंक क्या कर सकता है? बैंक से लोन लेने पर गारंटर की क्या जिम्मेदारी होती है? ऐड-ऑन क्रेडिट कार्ड क्या होता है ? लोन लेने वाले व्यक्ति के मौत हो जाने पर बकाया भुगतान कौन करता है ? लोन गारंटर बनाने से पहले कुछ बाते जान लेना चाहिए। नहीं तो फस जायेगे आप।