कार लोन – Car Loan In India

घर के साथ एक ब्रांडेड कार लेना हर किसी का सपना होता है. कार से न सिर्फ आपका जीवन आरामदेह बनता है, बल्कि बहुत सी मुश्किलें कम हो जाती हैं. पब्लिक ट्रांसपोर्ट से जूझते हुए दफ्तर पहुंचना या वीकेंड पर घूमने के लिए बाहर जाना, सब कुछ बहुत आसान हो जाता है. पहले कार खरीदना किसी के लिए भी बहुत बड़ी बात होती थी, क्योंकि इसके लिए एकमुश्त रकम खर्च करनी पड़ती थी, लेकिन अब लोन (Car Loan) आसानी से उपलब्ध होने की वजह से यह बहुत आसान हो गया है. बैंक और नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी कार लोन आसान मासिक किस्त पर दे देती हैं, जिससे अब कार खरीदना बहुत आसान हो गया है. इससे आपका बजट भी नहीं बिगड़ता और सुविधा भी मिल जाती है।

car-loan
car-loan

कार लोन कितने तरह के होते हैं?car loan kitane tarah ka hota hai

नई कार के लिए लोन: बैंक आपको नई कार खरीदने के लिए, पुरानी कार के लिए लोन, कार के बदले लोनदेते हैं. आम तौर पर बैंक नई कार की कीमत का 85% तक लोन दे देते हैं. इस लोन में आपकी कार बैंक के पास गिरवी (हाइपोथेकेटेड) रखी जाती है.

आप वास्तव में नई या पुरानी कार खरीदने के लिए लोन ले सकते हैं. आइये हम आपको बताते हैं कि आम तौर पर कार लोन कितने तरह के होते हैं:

नई कार के लिए लोन:à बैंक आपको नई कार खरीदने के लिए लोन देते हैं. आम तौर पर बैंक नई कार की कीमत का 85% तक लोन दे देते हैं. इस लोन में आपकी कार बैंक के पास गिरवी (हाइपोथेकेटेड) रखी जाती है. जब आप लोन चुका देते हैं तो बैंक से अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC) लेकर हाइपोथेकेशन खत्म कराया जा सकता है.

 पुरानी कार के लिए लोन:à यूज्ड कार खरीदने के लिए भी बैंक आपको लोन देते हैं. इसमें शर्त यह है कि कार तीन साल से अधिक पुरानी नहीं हो. इस तरह की कार खरीदने पर आपको कार की कीमत का 50 से 80 फीसदी तक रकम लोन के रूप में मिल सकती है.

कार के बदले लोन:à अगर आपको पैसे की जरूरत है तो आप अपनी कार के बदले बैंक से लोन ले सकते हैं. यह लोन वास्तव में आपकी किसी भी जरूरत को पूरा करने के लिए लिया जा सकता है. इस स्थिति में भी बैंक आपको कार की वैल्यू का 50-80 फीसदी तक लोन दे देते हैं. जब तक आप बैंक का लोन चुका नहीं देते, तब तक आप कार बेच नहीं सकते.

कार लोन के आवेदन की प्रक्रिया बैंकों ने कार लोन की प्रक्रिया बहुत आसान बना दी है. फॉर्म भरना: सबसे पहले आपको कार लोन के लिए आवेदन भरना होगा. आप आवेदन बैंक जाकर या कार डीलर के यहां भर सकते हैं.

दस्तावेज का वेरिफिकेशन:

आवेदन भरने के बाद कर्ज देने वाला बैंक आपके कागजात को वेरीफाई करने की प्रक्रिया अपनाता है. आपको आमदनी, पहचान और पते का प्रमाण देना होता है. बैंक इसे वेरीफाई कर इनकी पुष्टि करता है।

लोन मंजूरी:

अगर बैंक आपके दस्तावेजों से संतुष्ट है और उसे लगता है कि आपको कार खरीदने के लिए लोन दिया जा सकता है, तो आपका कार लोन मंजूर हो जाता है।

लोन मिलना:-इसके बाद आपके नाम से कार लोन जारी कर दिया जाता है।

जरुरी डॉक्यूमेंट ( सैलरी इनकम )

आईडी प्रूफ/जन्म प्रमाण पत्र
पासपोर्ट, पैन कार्ड, आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, सरकारी निकाय द्वारा जारी पहचान पत्र
रेजिडेंस एड्रेस प्रूफपासपोर्ट, आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, सरकारी निकाय द्वारा जारी पहचान पत्र, बिजली बिल, पानी बिल, हाउस टैक्स रिसीप्ट
इनकम प्रूफ1. नवीनतम 3 वेतन पर्ची
2.     फॉर्म 16 /फॉर्म 26 AS आईटीआर
3.     पिछले 3 महीने का बैंक स्टेटमेंट उन सभी आवेदकों के वेतन क्रेडिट को दर्शाता है जिनकी वेतन आय पर विचार किया जा रहा है।
4.     पिछले 3 महीनों के लिए कोई अन्य बैंक स्टेटमेंट जहां से आपकी EMI जा रही हो। 
नोट: – वेतन केवल सीधे बैंक क्रेडिट के माध्यम से ही
हस्ताक्षर प्रमाण पत्र1.     पासपोर्ट
२.     पैन कार्ड
3.     बैंक द्वारा सत्यापित हस्ताक्षर प्रमाण

जरुरी डोक्युमेन्ट्स (बिज़नेस इनकम )

आवश्यक दस्तावेज: –
पहचान प्रमाणपहचान पत्रपैन कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस / पासपोर्ट / मतदाता/ आधार कार्ड
पता प्रमाणपासपोर्ट / ड्राइविंग लाइसेंस / मतदाता पहचान पत्र / आधार कार्ड / उपयोगिता बिल / बैंक विवरण / बैंक खाता पासबुक (अपडेट किया गया और 2 महीने से अधिक पुराना नहीं) )
स्वामित्व प्रमाणअनुबंध प्रति / बिजली बिल / शेयर प्रमाण पत्र के साथ रखरखाव बिल / नगर कर बिल / शेयर प्रमाण पत्र
व्यापार निरंतरता प्रमाण / कार्यालय पता प्रमाण / कंपनी केवाईसीदुकान स्थापना प्रमाण पत्र / कर पंजीकरण-वैट / सेवा कर / जीएसटी पंजीकरण/कंपनी पैन कार्ड 
फर्म संविधान (फर्म कॉन्स्टिटूशन )एमओए , एओए,  पार्टनर शिप डीड, जीएसटी पंजीकरण प्रमाणपत्र, कंपनी पैन कार्ड 
वित्तीय(फाइनेंसियल )1. नवीनतम दो साल का वित्तीय (बैलेंस शीट, प्रॉफिट एंड लॉस , अचल संपत्ति, डेप्रिसिएशन,, सभी अनुसूची 2. नवीनतम टैक्स ऑडिट रिपोर्ट।
बैंकिंगपिछले छह महीने का बैंक स्टेटमेंट (बिजनेस अकाउंट्स)
ऑफिस एड्रेस प्रूफ/ कंपनी केवाईसीदुकान और स्थापना प्रमाणपत्र/कर पंजीकरण-वैट/सेवा कर/जीएसटी पंजीकरण

नोट :-कृषि या उससे संबंधित एक्टिविटीज से जुड़े लोगों के मामले में फोटो लगी हुई खसरा/चिट्टा (जिसमें क्रॉपिंग पैटर्न दिया हो)-पट्टा/खतौनी (लैंड होल्डिंग दी हो). सभी जमीन फ्री होल्ड बेसिस पर होना चाहिए और ओनरशिप प्रूफ लोन लेने वाले के नाम पर होना चाहिए.

हाइपोथेकेशन:-

जब आप लोन (Car Loan) लेकर कार खरीदते हैं तो यह कर्ज देने वाली कंपनी के पास गिरवी रहती है. इससे उनके पास यह अधिकार रहता है कि वे आपके कर्ज नहीं चुका पाने की स्थिति में आपकी संपत्ति जब्त कर लें. अगर आप समय पर मासिक किस्त नहीं दे पाए तो वे कार को उठा कर ले जा सकती हैं।

हाइपोथेकेशन लेटर कार के रजिस्ट्रेशन प्रोसेस का भी हिस्सा है. एक बार जब आप लोन (Car finance) चुका देंगे तो आप रजिस्ट्रेशन पेपर्स से लोन देने वाली कंपनी का हाइपोथेकेशन हटा सकते हैं।

हाइपोथेकेशन हटाने के लिए आपको संबंधित रजिस्ट्रेशन ट्रांसपोर्ट ऑफिस में नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट, कार के इंश्योरेंस के पेपर्स और एड्रेस प्रूफ के साथ जाना पड़ेगा. यहां यह ध्यान रखना जरूरी है कि कर्ज (Car Loan) देने वाली कंपनी से एनओसी लेना जरूरी है. इसके बाद इसे इंश्योरेंस कंपनी को देकर नए मालिक के नाम से इंश्योरेंस पेपर जारी कर दे।

कार लोन (Car Loan) की रकम:-

लोन (Car Loan) की राशि आपकी उम्र और आमदनी पर निर्भर है. कार के लिए आपको कितना लोन मिलता है, यह लोन देने वाली कंपनी पर निर्भर है. इस समय आम तौर पर आपकी सालाना कमाई का चार से छह गुना तक कार लोन (Car Loan) मिल जाता है.

कार की कीमत का 80-90 फीसदी तक फाइनेंस हो जाता है. कुछ बैंक हालांकि 100 फीसदी तक भी फाइनेंस कर देते हैं. यह एक्स शोरूम प्राइस या ऑन रोड प्राइस हो सकता है.

एक्स शोरूम प्राइस किसी डीलर को कार खरीदने के बदले चुकाई जाने वाली रकम है. जब आप रजिस्ट्रेशन चार्ज, इंश्योरेंस, रोड टैक्स आदि चुकाने के बाद कार सड़क पर चलाने के लिए लाते हैं तो यह ऑन रोड प्राइस होता है.

जब किसी सेकेंड हैंड कार के लिए लोन (Car Loan) लेने जाते हैं तो दोबारा रजिस्ट्रेशन में आने वाले खर्च कवर नहीं होते.

लोन अवधि और ब्याज दर क्या होगी? – Car loan interest rate in india

ब्याज दर 7.50% से 10% तक होता है। लोन टेन्योर 7 साल तक का होगा।

FAQ ( कार लोन )

हाउसिंग लोन आपका चल रहा तो उसके साथ आप कार लोन भी ले सकते है , बशर्ते आपकी एलिजिबिलिटी बन रही हो। इसमें आपकी इनकम और रनिंग लोन का रेश्यो चेक किया जाएगा।
जी हां , आप अपनी पुराणी कार के अगेंस्ट लोन ले सकते है, जिसे हम लोन अगेस्न्ट यूज्ड कार बोलते है।
जी हां , यदि आपका कार लोन चल रहा है तो आप पार्ट [पेमेंट कर सकते है कुछ पार्ट पेमेंट चार्जेज के साथ।
कार लोन लेने के लिए आप प्राइवेट या सरकारी बैंक से लोन है या किसी प्राइवेट फाइनेंस कंपनी भी आप को लोन दे सकती है।

कुछ महत्वपूर्ण ब्लॉग लिंक :-

Car Loan in English
Personal loan in Hindi
होम लोन की जानकारी हिंदी में।
बिज़नेस लोन की जानकारी हिंदी में

प्रॉपर्टी लोन की जानकारी हिंदी में

पेटीऍम से लोन कैसे ले

Leave a Comment